12th fail IPS Officer Manoj Kumar Sharma की असली कहानी जो मूवी में नहीं बताई गयी, यहां पढ़े

12th fail IPS Officer Manoj Kumar Sharma: क्या अपने भी हाल ही में सिनेमाघरों में रिलीज हुई फिल्म 12th फ़ैल देखी है? अगर हाँ तो आप भी फिल्म में दिखाए गए कीरदार मनोज कुमार शर्मा से बहुत प्रभावित हुए होंगे। मैं आपको बता दूँ की फिल्म में मनोज कुमार शर्मा का रोल अदा करने वाले एक्टर का नाम Vikrant Massey (विक्रांत मैसी) जिन्होंने ने किरदार में एक अलग ही जान भर दी है जिन्हे फैंस बहुत ही ज्यादा प्रेम दे रहे है। चलिए में आज आपको बताता हु 12वी फ़ैल ips अधिकारी मनोज कुमार शर्मा से जुड़े कुछ रोचक बातें जो आपको फिल्म में शायद नहीं बताई होगी –

Join whatsapp group Join Now
Join Telegram group Join Now

नकल करके पास हुए थे मनोज

12th fail IPS Officer Manoj Kumar Sharma

अकसर हम अपने जीवन में छोटी छोटी नाकामयाबी के बाद अपने सपनो का पीछा करना बन कर देते है और क्विट कर देते है। लेकिन मैं आपको बता दू की मूवी में दिखाए गए अधिकारी अपने असली जीवन में भी 12वी कक्षा पास नहीं कर पाए थे लेकिन इसके पीछे का कारन सुन आप भी चौक जायेगे, क्युकी मनोज ने अपनी पूरी पढाई 11वी कक्षा तक सिर्फ नकल करके पास की थी लेकिन जब वह 12वी की परीक्षा देने गया तो कलेक्टर जे सख्त आदेश के कारण वह एग्जाम में नकल नहीं कर पाए और फिर फ़ैल हो गए.

बेहद गरीबी और संगर्ष में बीता शुरुवाती जीवन

मनोज कुमार शर्मा का जन्म 1977 में मध्य प्रदेश के मुरैना जिले में स्थित छोटे से गांव बिलगाँव में हुआ था। मनोज का जीवन बहुत ही गरीबी और पैसो के आभाव में बीता था। दरअसल मनोज के पिता जी कृषि विभाग में काम करते थे जिससे की उनके घर की स्थति बहुत ही खराब थी और मनोज के पढाई न करने की वजह से वह भी अपने परिवार को पैसे नहीं दे पाते थे। और इसीलिए उन्हे कई छोटे मोटे काम करना पड़ता था।

अमीरो के कुत्तों को घुमाया करते थे

12th fail IPS Officer Manoj Kumar Sharma

अपना जीवन चलने के लिए और कुछ पैसे कमाने के लिए मनोज मुरैना के पास ग्वालियर जिले में चले गए थे वहां पर उन्होंने बहुत ही संगर्ष किया लेकिन यहाँ से उनका जीवन बदलने वाला था। आपको बता दूँ की मनोज ने फुटपाथ पर भी रातें बिताई है और कई जगह मजदूरी वाला काम भी किया है। जैसे की रिक्शा, और टेम्पो चलना , लोगो के कुत्तें घूमना , बाथरूम साफ़ करना , लेकिन एक बार उनका टम्पो ट्रैफिक पुलिस द्वारा जप्त कर लिया गया था जिसके बाद वह गुस्से में कलेक्टर को कंप्लेंट करने पहुंच गए। लेकिन मनोज ने वहा जाकर शिकायत तो की नहीं लेकिन UPSC क्या होता है और अधिकारी कैसे बना जाता है यह जानकार जरुरु ले ली और यही से उनके जीवन ने बड़ा मोड़ ले लिया।

कोचिंग में पढ़ने के लिए किया काम

अधिकारी बनने के लिए UPSC की पढाई करने के लिए भी उनके पास पैसे नहीं थे यहाँ भी परेशानियों ने उनका पीछा नहीं छोड़ा यहाँ भी उन्होंने छोटे मोटे काम करके अपना खर्चा निकाला और एक लाइब्रेरी में काम करके वही पर पढाई कर लिया करते थे और एक होटल में बर्तन धोकर खाना खा लेते थे। लेकिन इनका हौसला यहाँ भी नहीं डगमगाया और वह पढ़ते रहे।

विकास दिव्यकीर्ति सर ने फ्री में दी थी कोचिंग

12th fail IPS Officer Manoj Kumar Sharma

जब मनोज दिल्ली में अपने एग्जाम की तयारी में लगे हुए थे तो यूपीएससी की कोचिंग के दौरान ही उन्हें उत्तराखंड की रहने वाली श्रद्धा जोशी जी से मिले थे और उन्हें प्यार हो गया था। जिसे अपने फिल्म में भी देखा होगा। इसी बीच उन्हें विकास दिव्यकीर्ति सर भी मिले जिन्होंने उन्हें फ्री में ही UPSC की कोचिंग दी जिसका मनोज की जिंदगी में बहुत ही बड़ा योगदान है। 

आखरी एटेम्पट में निकाला एग्जाम

आपको बता दूँ की मनोज जी ने अपने पहले एटेम्पट में ही मैन्स का पेपर क्लियर कर लिए था लेकिन प्रीलिम्स नहीं निकला था, लेकिन इसके बाद तो मनोज का तो मनो समय ही बिगड़ गया और लगातर 2 अटेम्प्स में भी उनका एग्जाम क्लियर नहीं हो पाया । लेकिन उनका साहस और अपने सपने को पाने की लगन ने चौथे और आखरी एटेम्पट में उनका एग्जाम क्लियर करवया और आज मनोज कुमार शर्मा मुंबई में ips अधिकारी है।

यह भी पढ़े

Leave a Comment